बिजनेस न्यूज समय सत्ता चीफ एडिटर

Credit Score क्या होता हैं? Personal Loan के लिये Credit Score कितना होना चाहिए

Credit Score ग्राहक के पिछले वित्तीय लेने देने का ब्यौरा होता हैं। जिसके माध्यम सें बैंक या एनबीएफसी कंपनियों आसानी सें ग्राहक के वित्तीय लेने देने के व्यवहार का पता लगा सकती हैं। क्रेडिट स्कोर की रेंज 300 से 900 के बीच होती है।

Samay Satta Samay Satta
India, 
(अपडेटेड 1 month पहले - 03:10 PM IST)
 0
Credit Score क्या होता हैं? Personal Loan के लिये Credit Score कितना होना चाहिए
Credit Score क्या होता हैं? Personal Loan के लिये Credit Score कितना होना चाहिए

आज के दौर में लोन लेने के लिये क्रेडिट स्कोर (Credit Score) काफ़ी अहम होता हैं। वही यदि अनसिक्योर्ड लोन जैसे पर्सलन लोन (Personal Loan) की बात हो तो क्रेडिट स्कोर की अहमियत और बढ़ जाती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं क्रेडिट स्कोर क्या होता हैं? और पर्सलन लोन (Personal Loan) के लिये क्रेडिट स्कोर कितना होना चाहिए? इसके साथ ही क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये? के बारें में, तो आइये इस लेख के माध्यम सें समझते हैं

Credit Score क्या होता हैं?

क्रेडिट स्कोर ग्राहक के पिछले वित्तीय लेने देने का ब्यौरा होता हैं। जिसके माध्यम सें बैंक या एनबीएफसी कंपनियों आसानी सें ग्राहक के वित्तीय लेने देने के व्यवहार का पता लगा सकती हैं। क्रेडिट स्कोर की रेंज 300 से 900 के बीच होती है। सामान्यतः 720+ का क्रेडिट स्कोर अच्छा माना जाता हैं।

Personal Loan के लिये Credit Score कितना होना चाहिए?

वैसे तो बैंकों और एनबीएफसी कंपनियों नें अभी तक पर्सनल लोन के लिए क्रेडिट स्कोर की सीमा को तय नहीं किया हैं लेकिन जानकर मानते हैं कि आसानी सें पर्सनल लोन को लेने के लिये ग्राहक का क्रेडिट स्कोर 750 से ज्यादा होना चाहिए। वही ग्राहक का जितना अधिक क्रेडिट स्कोर होगा इसे उतने ही जल्दी पर्सनल लोन मिलने की संभावना बढ़ जाती हैं

क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाये?

लोन का भुगतान समय में करें : अपने पिछले सभी लोन या EMI का भुगतान समय में करें, ऐसे नियमित तौर में करने सें क्रेडिट स्कोर में वृद्धि की जा सकती हैं।

क्रेडिट यूटिलाइजेश रेश्यो को कम रखें : अपने क्रेडिट का यूटिलाइजेश रेश्यो (क्रेडिट कार्ड की लिमिट अनुपात) को हमेशा 70:30 के आसपास रखें। ऐसा करने सें भी क्रेडिट स्कोर को वृद्धि किया जा सकता हैं।

क्रेडिट मिक्स:  एक के बाद एक लगातार पर्सनल लोन लेने सें भी क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए अपने पर्सनल लोन के अंतर को बनाने की कोशिश करें। इससे भी क्रेडिट स्कोर में वृद्धि किया जा सकता हैं।


Samay Satta Subscriber

This user has systemically earned a pro badge on samaysatta.com, indicating their consistent dedication to publishing content regularly. The pro badge signifies their commitment and expertise in creating valuable content for the samaysatta.com community.